द्वितीय विश्व युद्ध : कारण, प्रारंभ, विस्तार और परिणाम (World War II : Causes, Starts, Extensions and Results)

27 अगस्त 1939 को हिटलर ने ओवरसल्जवर्ग में अपने सेनापतियों को संबोधित करते हुए कहा था, ‘‘मुझे जितनी शक्ति अथवा जर्मन जाति का…

जर्मनी में वाइमार गणतंत्र की स्थापना और उसकी असफलता (Establishment and Failure of Weimar Republic in Germany)

वाइमार गणतंत्र वाइमार गणतंत्र जर्मनी( Weimar Republic in Germany) की उस प्रतिनिधिक लोकतांत्रिक संसदीय सरकार को कहा जाता है, जिसने प्रथम विश्वयुद्ध के…

राष्ट्रसंघ का गठन: संगठन, उपलब्धियाँ और असफलताएँ (Formation of League of Nations : Organization, Achievements and Failures)

प्रथम महायुद्ध विश्व इतिहास में लड़ा गया ऐसा पहला युद्ध था जिसके दुष्परिणाम अनेक राष्ट्रों के विशाल जन-समुदाय को भोगने पड़े। इस युद्ध…

दिल्ली सल्तनत : सैय्यद और लोदी वंश (1414-1450 ई.) Delhi Sultanate: Syed and Lodi Dynasty (1414-1450 AD)

सैय्यद वंश (1414-1451 ई.) सैय्यद वंश की स्थापना सुल्तान महमूद की मृत्यु के पश्चात् दिल्ली के सरदारों ने दौलत खाँ लोदी को दिल्ली…

दिल्ली सल्तनत की स्थापना: गुलाम वंश (1206-1290 ई.) Establishment of Delhi Sultanate: Ghulam Dynasty (1206-1290 AD)

दिल्ली सल्तनत की स्थापना भारतीय इतिहास में युगांतकारी घटना थी। इस्लाम की स्थापना के परिणामस्वरूप अरब और मध्य एशिया में हुए धार्मिक और…

शांति और सुरक्षा की खोज (Search of Peace and Security)

यूरोपीय राष्ट्रों में शताब्दियों से पारस्परिक ईष्र्या और संदेह की भावना विद्यमान रही थी। स्पेन तथा फ्रांस, फ्रांस और इंग्लैंड, जर्मनी तथा पूर्वी…

कंपनी शासन के अधीन भारत में संवैधानिक विकास : 1773 का रेग्युलेटिंग ऐक्ट (Constitutional Development in India under Corporate Governance : Regulating Act of 1773)

किसी भी शासन प्रणाली का यह प्रमुख कार्य होता है कि वह उसके शासकों के उद्देश्यों और लक्ष्यों की पूर्ति कर सके। भारत…