सांप्रदायिक निर्णय, पूनापैक्ट और गांधीजी का हरिजनोद्धार आंदोलन(Communal decision, Poona Pact and Gandhiji’s Harijodhodar movement)

गोलमेज सम्मेलन में मुस्लिमों एवं सिखों के साथ अनुसूचित जाति के महत्त्वपूर्ण राजनीतिज्ञ डॉ. भीमराव आंबेडकर ने अछूतों के लिए भी पृथक् निर्वाचन…

सविनय अवज्ञा आंदोलन (Civil Disobedience Movement)

गांधीजी के नेतृत्व में राष्ट्रीय स्तर चलाया गया दूसरा महत्त्वपूर्ण आंदोलन नागरिक (सविनय) अवज्ञा आंदोलन था, जिसे ‘नमक सत्याग्रह’ के नाम से भी…

कांग्रेस और समाजवादी विचारधारा (Congress and Socialist Ideology)

भारत में कांग्रेस के समाजवादी विचारधारा सर्वप्रमुख प्रेरणा प्रतीक जवाहरलाल नेहरू तथा सुभाषचंद्र बोस थे। जवाहरलाल नेहरू ने 1927 में उपनिवेशवादी दमन और…

भारत में मजदूर आंदोलन और श्रमिक-संघों का विकास (Labor Movement and Development of Trade Unions in India)

उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्ध में जब आधुनिक उद्योग धीरे-धीरे शुरू हो रहा था और रेलवे, पोस्ट आफिस, कोयला खनन, चाय बागान और टेलीग्राफ…

बंगाल में क्रांतिकारी गतिविधियाँ और चटगाँव विद्रोह समूह (Revolutionary Activities in Bengal and the Chittagong Rebellion Group)

बंगाल में क्रांतिकारी गतिविधियों की पृष्ठभूमि (Background of Revolutionary Activities in Bengal) बीसवीं सदी के तीसरे दशक में बंगाल में अतीत में जीनेवाले…

क्रांतिकारी आंदोलन का पुनरोदय : भगतसिंह और चंद्रशेखर आजाद (Revival of Revolutionary Movement : Bhagat Singh and Chandrasekhar Azad)

क्रांतिकारी आंदोलन के पूनरोदय की पृष्ठभूमि प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान क्रांतिकारी आंदोलनकारियों को बुरी तरह कुचल दिया गया। अनेक नेता जेल में डाल…

भारत में सांप्रदायिकता के उदय के कारण (Causes of Rise of Communalism in India)

सांप्रदायिकता का अर्थ (Meaning of Communalism) ‘सांप्रदायिकता’ से तात्पर्य उस संकीर्ण मनोवृति से है, जो धर्म और संप्रदाय के नाम पर पूरे समाज…

1857 के बाद आदिवासी विद्रोह (Tribal Rebellion After 1857)

आदिवासी विद्रोह का आरंभ अंग्रेजी साम्राज्य की स्थापना के साथ शुरू हो गया था। ‘आदिवासी’ शब्द को जनजातीय, मूलनिवासी, अनुसूचित जनजाति इत्यादि कई…

भारत में वामपंथ का उदय और विकास (The Rise and Development of the Left in India)

वामपंथी राजनीति उस पक्ष या विचारधारा को कहते हैं जो समाज को बदलकर उसमें अधिक आर्थिक बराबरी लाना चाहते हैं। वामपंथी विचारधारा में…