आजाद हिंद फौज और सुभाषचंद्र बोस (Indian National Army and Subhash Chandra Bose)

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन को देश के बाहर एक नई अभिव्यक्ति मिली। ब्रिटिश भारतीय सेना की पंजाब रेजीमेंट के एक…

अगस्त क्रांति  : ‘भारत छोड़ो’ आंदोलन (August Revolution: ‘Quit India’ Movement)

भारत छोड़ो आंदोलन, जिसे ‘अगस्त क्रांति’ भी कहा जाता है, भारतीय जनता की वीरता और लड़ाकूपन की अद्वितीय मिसाल है। जिन परिस्थितियों में…

देसी रियासतों में भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन (Indian National Movement in Princely States)

अंग्रेजों ने भारत पर औपनिवेशिक सत्ता स्थापित करने के लिए जो नीतियाँ अपनाई, उनके चलते भारतीय उपमहाद्वीप के 25वें हिस्से पर भारतीय राजाओं-महाराजाओं…

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान भारतीय राष्ट्रवाद (Indian Nationalism During World War II)

सितंबर 1939 में दूसरा विश्वयुद्ध आरंभ हो गया जब जर्मन प्रसारवाद की हिटलर की नीति के अनुसार नाजी जर्मनी ने पौलैंड पर आक्रमण…

त्रिपुरी संकट : सुभाष बनाम गांधी (Tripuri Crisis: Subhash Vs Gandhi)

महात्मा गांधी के आशीर्वाद से सुभाषचंद्र बोस फरवरी 1938 के हरिपुरा (गुजरात) कांग्रेस में सर्वसम्मति से कांग्रेस का अध्यक्ष चुने गये थे। इस…

ब्रिटिश भारत में किसान आंदोलन (Peasant Movements in British India)

प्रायः माना जाता है कि भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में किसानों की कोई सार्थक भूमिका नहीं रही है, किंतु ऐसा नहीं है। भारतीय किसानों…

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और पूँजीपति वर्ग (Indian National Movement and Capitalist class)

औपनिवेशिक शासन के दौरान 19वीं सदी के मध्य में भारतीय पूँजीपति वर्ग का विकास हुआ, लेकिन भारतीय पूँजीपति विदेशी पूँजी की बैशाखी पर…

1935 के अधिनियम के अधीन प्रांतों में कांग्रेसी सरकारें (Congress Governments in the Provinces under the Act of 1935)

सविनय अवज्ञा आंदोलन की समाप्ति (1934) के बाद कांग्रेस के अंदर गंभीर मतभेद पैदा हो गये, जैसे इससे पहले असहयोग आंदोलन की वापसी…

उन्नीसवीं सदी के सुधार आंदोलनों का प्रभाव और उनकी प्रमुख प्रवृत्तियाँ (Influence of Nineteenth Century Reform Movements and Their Major Trends)

उन्नीसवीं सदी के सांस्कृतिक जागरण का प्रमुख प्रभाव सामाजिक सुधार के क्षेत्र में देखने को मिला। इसका कारण यह था कि भारतीय समाज…