क्रीमिया का युद्ध 1853-1856 ई. (War of Crimea 1853–1856 AD)

दक्षिण-पूर्वी यूरोप के बाल्कन प्रायद्वीप की भौगोलिक तथा ऐतिहासिक दृष्टि से अपनी अलग पहचान है। पंद्रहवीं सदी के प्रारंभ से लेकर सोलहवीं सदी के अंत तक पूर्वी यूरोपीय राज्यों पर आटोमन तुर्कों के निरंतर आक्रमणों एवं साम्राज्य-विस्तार के फलस्वरूप यूरोपीय राज्यों की राजनीतिक सुरक्षा, प्रभुता, प्रादेशिक अखंडता, सामुद्रिक व व्यापारिक हितों को बड़ा खतरा उत्पन्न … Read more क्रीमिया का युद्ध (1853-1856 ई.) (War of Crimea (1853–1856 AD)

पेरिस शांति-सम्मेलन और वर्साय की संधि (Paris Peace Conference and Treaty of Versailles)

जर्मनी के आत्म-समर्पण के बाद 11 नवंबर 1918 ई. को प्रथम विश्वयुद्ध की इतिश्री हो गई। प्रथम विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद विश्व-स्तर…

यूरोपीय इतिहास में तीसवर्षीय युद्ध 1618-1648 ई. (Thirty Year War in European History 1618-1648 AD)

यूरोप के इतिहास में तीसवर्षीय युद्ध एक मील का पत्थर है जहाँ से मध्यकाल के समस्त अवशेष समाप्त हो जाते हैं और आधुनिक…

स्पेन का उत्थान: चार्ल्स पंचम और फिलिप द्वितीय (The Rise of Spain: Charles V and Philip II)

पिरेनीज पहाड़ के दक्षिण में भूमध्य सागर, अटलांटिक सागर और पुर्तगाल से घिरा पठारी इलाका स्पेन है। पंद्रहवीं शताब्दी से पूर्व स्पेन में…

यूरोप में राष्ट्रीय राज्यों का उदय (Rise of National States in Europe)

यूरोप के इतिहास में मध्ययुग में सर्वत्र सामंतवाद का वर्चस्च था और राजाओं की शक्ति अत्यंत दुर्बल थी। सामंत, राजा की ही तरह…

यूरोप में प्रति धर्मसुधार आंदोलन  (Counter-Reformation Movement in Europe)

16वीं शताब्दी के विद्रोहात्मक धर्म-सुधार के कारण नवीन प्रोटेस्टेंट धर्म के प्रसार से चिंतित होकर कैथोलिक धर्म के अनुयायियों ने कैथोलिक चर्च व…