कंपनी शासन के अधीन भारत में संवैधानिक विकास : 1773 का रेग्युलेटिंग ऐक्ट (Constitutional Development in India under Corporate Governance : Regulating Act of 1773)

किसी भी शासन प्रणाली का यह प्रमुख कार्य होता है कि वह उसके शासकों के उद्देश्यों और लक्ष्यों की पूर्ति कर सके। भारत…

सिख शक्ति का उदय: महाराजा रणजीत सिंह (The Rise of Sikh Power : Maharaja Ranjit Singh)

महाराजा रणजीत सिंह उत्तर पश्चिम भारत के पंजाब में बिखरे 11 सिख राज्यों को न केवल एकजुट किया, बल्कि एक आधुनिक सिख साम्राज्य…

भारत में सांप्रदायिकता के उदय के कारण (Causes of Rise of Communalism in India)

सांप्रदायिकता का अर्थ (Meaning of communalism) ‘सांप्रदायिकता’ से तात्पर्य उस संकीर्ण मनोवृति से है, जो धर्म और संप्रदाय के नाम पर पूरे समाज…

राबर्ट क्लाइव: इलाहाबाद की संधियाँ और बंगाल में द्वैध शासन (Robert Clive: The Treaties of Allahabad and Diarchy in Bengal)

राबर्ट क्लाइव ने बंगाल में अंग्रेजों की स्थिति में सुधार किया और ब्रिटिश साम्राज्य को मजबूती प्रदान की। बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला, अवध…